स्केचिंग सीखने का पहला कदम कैसे लें ? जानिए सब कुछ !

जब आप स्केचिंग करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपके दिमाग में एक सवाल आता है कि, स्केचिंग सीखने की शुरुआत कैसे करें ? स्केचिंग सीखने के लिए आपको कौन सा पहला कदम उठाना चाहिए, ये सब आप जानने वाले हैं।

सबसे पहला काम आपको करना है कि, आप अपनी पेंसिल को महीन (बारीक) कर लें और जब भी स्केचिंग करें एक ही पेंसिल का इस्तेमाल करें।

मैं अपने बारे में कहूँ तो मैंने स्केचिंग की शुरुआत 10 साल की उम्र में ही कर दी थी। मैं बचपन में बैकबेंचर रहा हूँ। इस वजह से मैं अधिकतर स्केच क्लास रूम में ही बनता था।

जब भी पढ़ाई से बोर होता था, स्केचिंग शुरू कर देता था। एक बात और आपसे कहना चाहूंगा कि, मैं उस वक्त किसी ड्राइंग पेपर पपर नहीं बल्कि अपनी कॉपी के पीछे वाले पन्नों पर ड्राइंग किया करता था। जिसकी वजह से कभी- कभी घर में डांट भी पड़ती थी।

आपने भी शायद ऐसा कुछ बचपन में किया हो। खैर, मैं ऊपर आपसे जो कुछ भी बताया उससे एक बात सीखी जा सकती है कि, स्केचिंग कहीं पर या कभी भी शुरू की जा सकती है।

आपकी उम्र चाहे 70 वर्ष हो या फिर 10 वर्ष स्केचिंग की शुरुआत आप कर सकते हैं।

मैनें पिछले पोस्ट में आपको बताया था कि, स्केचिंग विधिवत ड्राइंग सीखने का पहला स्टेप होता है। मेरी वो बात सही है लेकिन मैं केवल इसकी बात करू तो स्केचिंग कला की बहुत बड़ी शाखा होती है।

स्केचिंग का सही तरीका

स्केचिंग का तरीका होता है। आप इसकी शुरुआत हल्की लाइनों या हल्के कर्व से करते है।

जैसा कि, मैंने पहले बताया कि, आपको एक ही पेंसिल का इस्तेमाल करना है, तो शुरुआत हल्के हाथों से करना है।

मान लीजिये आप किसी महिला का स्केच बना रहे हैं तो सबसे पहले आप उसके चेहरे और बालों का आउट लाइन बनायेगें।

स्केचिंग के दौरान आउट लाइन कैसे बनायें ?

जब आपको आउट लाइन बनाना हो तो आप अपने अवलोकन (observation) के हिसाब से आउट लाइन की रेखा खीचेंगें।

स्केचिंग

आपको गलत या सही का आइडिया खुदी ही लग जायेगा। अलग आपको परफेक्ट न लगे तो बिना उसे मिटाये दुबारा प्रयास करिये।

जब तक आपको सही न लगे ऐसा करते रहिये।

rps20210317 191023

जब कोई लाइनें दोहरायेगी तो आपको आकार का आभास होने लगेगा।

जब आप महिला के चेहरे का बाहरी आकार बना लेगें, तो आपको आँख, नाक और ओंठों को सही आकार देने का प्रयास करना है। जो प्रकिया मैंने आपको आउटलाइन के बारे में बताई है वही प्रकिया चेहरे के बाकी हिस्सों को सही रूप देने के लिए करना है।

यह सब काम आपको हल्के हाथों से हल्की लाइने बना कर करनी है। इस दौरान आपको काफी हद तक सही आभास हो जायेगा कि, कहाँ सही बन रहा है और कहाँ गलत बन रहा है।

जहाँ पर आपको सही लगे उस हिस्से को पेंसिल से डार्क कर लें और जहाँ गलत लगे वहॉं आउटलाइन वाली प्रकिया दोहराते रहें। जब आपको सही लगने लगे उसे भी डार्क कर लें।

स्केचिंग

जिस हिसाब से स्केचिंग की जाती है यह उसकी वास्तविक प्रकिया है।

मैनें आपको एक फिल्म की कहानी की तरह समझा दिया है। लेकिन इसमें परांगत होने के लिए काफी अभ्यास की जरूरत होती है।

कम समय और कम मेहनत में आप स्केचिंग सीख जायें यही हमारा प्रयास है। इसके अंदर की बहुत सी जानकारी देना अभी बाकी है जो कि, एक – दो नहीं बल्कि कई सारे लेख (पोस्ट) लिखने के बाद पूरी होगी।

Leave a Comment