365 Colouring Book review – क्यों जरूरी है ये किताब बच्चों के लिए ?

365 Colouring Book review क्यों जरूरी है ये किताब बच्चों के लिए ? इसे समझते हैं।

इंसान जो कुछ भी अपने बचपन में सीखता है, उसका असर पूरी जिंदगी पर पड़ता है। हम अपने बच्चों को कुछ ऐसा सस्कार और शिक्षा देना चाहते हैं, जिससे वह अपनी जिंदगी में हमेशा आगे रहे।

बच्चों को कुछ नया सिखाना माता – पिता के लिए आसान नहीं है। जब तक बच्चे के अंदर किसी वस्तु के प्रति लगाव नहीं होता वह उससे दूर भागता है।

लेकिन ये माता – पिता की जिम्मेदारी होती है कि, वह बच्चों के चौहमुखी विकास के लिए प्रयास करता रहे।
बच्चों को अक्षर ज्ञान से लगा कर रंगों का ज्ञान, सभी कुछ सिखाना जरूरी होता है

rps20200831 205023 1

बचपन से ही ड्राइंग सिखाने से बच्चों का मानसिक विकास बहुत अच्छा होता है।

क्या होता है Colouring Book –

कलरिंग बुक एक तरह की सादी ड्राइंग की किताब होती है। जिसमें बच्चे अपना मनचाहा रंग भर सकते हैं।
इसमें अलग-अलग तरीके के चित्र बनें हुए होते हैं जैसे शेर, भालू, सेब, गुलाब, इत्यादि।

प्रत्येक चित्र के अंदर अलग-अलग सेक्शन होते हैं। जिसमें बच्चे अपना मनचाहा रंग भर सकते हैं। रंग आपको वही चुनने चाहिए जो बच्चों के लिए हानिकारक न हो। क्योकि छोटे बच्चे कोई भी वस्तु बहुत आसानी से अपने मुँह में डाल लेते हैं।

q? encoding=UTF8&ASIN=9350895668&Format= SL250 &ID=AsinImage&MarketPlace=IN&ServiceVersion=20070822&WS=1&tag=babasart09 21ir?t=babasart09 21&l=li3&o=31&a=9350895668

इसके लिए आप स्केच पेन का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपका बच्चा 3 वर्ष से ऊपर है, तो आप क्रेयॉन कलर को रंगने के लिए प्रयोग कर सकते हैं।

उपयोग का तरीका

सबसे जरूरी बात है कि, इसमें आपको बच्चों को कुछ सिखाना या समझाना नहीं होता है।
कौन सा कलर कहाँ इस्तेमाल करना है इस बारे में बिल्कुल नहीं बताना है।

बच्चों को अपनी मर्जी का रंग इस्तेमाल करने दें, भले ही सेब को लाल रंग से रंगें या काले से।

यहाँ पर आपका मकसद बच्चे को ड्राइंग सिखाना नहीं होना चाहिए। बल्कि बच्चे के इमेजिनेशन पावर को बढ़ाना ही आपका लक्ष्य होना चाहिए।

इसे क्यों खरीदें (365 Colouring Book review)-

आजकल के मोबाइल युग में अगर आप अपने बच्चे को थोड़ी देर के लिए भी मोबाइल से दूर रख पायें तो ये आपकी उपलब्धि होगी।

मोबाइल में आपको बहुत से कलरिंग बुक के ऐप मिल जायेगें। जहाँ पर जाकर एक बटन में ही चित्रों में रंग भर जायेगें।

यहाँ पर मेरी राय यही है कि, भूल कर भी मोबाइल में कलरिंग बुक का इस्तेमाल न करें। यह आपके बच्चे के सम्पूर्ण विकास में बाधक हो सकता है।

वास्तव में किया गया कलर और बटन दबा कर पैदा किया गया कलर दोनों में बहुत अंतर होता है और जहाँ पर आप अपने बच्चे का मानसिक विकास करना चाहते हैं। वहाँ पर ऐसी अप्लीकेशन का इस्तेमाल न करें।

इस किताब को खरीदने का सबसे ज्यादा फायदा यही होगा कि, आप अपने बच्चे को मोबाइल और रोबोटिक खिलौने से थोड़ा दूर कर पायेगें।

किसी भी माता-पिता के पास यह अच्छा मौका है कि, बच्चे को ऐसी चीजों से दूर करें।

अमेज़न से खरीदें

वास्तव में छोटे बच्चों को ये पता ही नहीं होता कि, उन्हें क्या चाहिए , जो भी चीज उनके सामने पेश की जाये उसी में लगाव पैदा कर लेते हैं।

(365 Colouring Book review) Book की खास बातें –

इस किताब की बात करें तो यह 3 साल से 13 साल तक के बच्चों की पसंदीदा किताब हैं।

साइज की बात करें तो किताब में चित्र प्रर्याप्त मात्रा में बड़े हैं। जिससे छोटे बच्चों को कलर करने में कोई दिक्कत नहीं आयेगी।

यहाँ पर आपको बहुत सारी अलग-अलग तस्वीरें मिलेगी, जिस पर कलर करना बच्चों के लिए मजेदार होगा।
इस किताब के पन्ने की क़्वालिटी अच्छी है। बच्चों के कलर करने से फटेगी नहीं।

अधिक सीखें : चित्रकारी करना सीखें केवल 21 दिनों में

इस किताब के प्रत्येक चित्र में इतने सेक्शन मौजूद है। जिससे अलग-अलग कलर यूज़ करने का भरपूर मौका मिलेगा।

कमियाँ (365 Colouring Book review) –

इसकी एक कमी ये है कि, वाटरकलर करने से इसके पेज फूल जाते है। इसके पेज वाटरकलर के उपयुक्त नहीं है। जबकि यह बुक क्रेयान और कलर पेंसिल के लिए परफेक्ट है।

निष्कर्ष

बच्चों को सही राह सिखाना और उनका सम्पूर्ण विकास करना, इसकी जिम्मेदारी उनके माता-पिता के पास होती है। बचपन में जो कुछ भी बच्चा सिखाता है उसी के अनुसार सारा जीवन जीता है।


यह किताब मेरे पास मौजूद है, इसलिए मैं इस किताब पर लेख लिख पाया। आप चाहें तो कोई भी कलरिंग बुक ले सकते हैं। बस आपका मकसद बच्चे को कुछ अच्छा सिखाना ही होना चाहिए।

Leave a Comment